ऑनलाइन सेक्स रैकेट!

ब्ल्यू धंधे का काला सच

मददगार रिपोर्टर

उदयपुर। प्यार के जाल में Èांस कर या टेलीÈोन पर लुभावनी बातें करके या Èिर शादी के बाद जेवर और नकदी लेकर Èरार होने की वारदातें अब पुरानी हो गई है। नई बात जो सामने आई है, वो ये हैं कि इंटरनेट के जरिये हाईप्रोÈाइल सेक्स उपलब्ध कराने का लालच देकर युवाओं की जेब खाली की जा रही है। क्रमददगारञ्ज की ये खास रिपोर्ट शहर के उन युवाओं की पड़ताल पर आधारित है। जो इस ठगी का भी शिकार हो चुके हैं।

देह व्यापार करने वाले लोगों ने इंटरनेट का जमकर इस्तेमाल शुरू कर दिया हैं। इसके जरिए तुरंत में लड़कियों को उपलब्ध कराने का दावा किया जाता हैं। वेबसाइट पर दिए गए मोबाइल नंबर पर कॉल करने पर आपको ढेरों लड़कियों की Èोटो सहित डिटेल उपलब्ध कराई जाती हैं। पसंद के मुताबिक रकम भी तय की जाती हैं।

क्रमददगारञ्ज रिपोर्टर ने एजेंसी की एक वेबसाइट से मोबाइल नंबर लेकर कॉल किया, तो Èोन उठाने वाले व्यक्ति ने खुद का नाम रोहित बताया और कहा उसके पास हर उम्र की लड़कियां मौजूद हैं। इसके लिए आपको तीन हजार रुपए देने होंगे। उसने ये भी कहा कि अगर आपको पूरी रात के लिए लड़की चाहिए, तो १५ हजार रुपए देने होंगे। उसमें कई तरह के लुभावने ऑÈर भी शामिल थे।

 

Èोटो मेल करने के लिए तैयार

रिपोर्टर ने रोहित से कहा कि वो पैसे देने के पहले एक बार लड़की को देखना चाहता है, तो ई-मेल आईडी मांगते हुए कहा गया कि वह Èोटो ई-मेल कर देगा। इसके बाद रोहित ने रिपोर्टर को एक मेल भेजा, जिसमेें लड़कियों के Èोटो थे। Èोटो को चुनने के बाद पैसों का लेन-देन शुरू हो जाता है ।

सोश्यल साइट पर भी Èैला जाल

सोश्यल नेटवर्किंग साइट भी इस प्रकार के काले कारोबार से अछूती नहीं हैं। Èेसबुक, गूगल प्लस, लिंक्ड इन आदि वेबसाइट्स पर कॉल गर्ल सर्च करने पर ढेरों मैसेज और लड़कियों की कई प्रोÈाइल्स सामने आ जाती हैं। शहर के युवाओं को इस मायाजल में Èांसने का धंधा जोरों पर चल रहा हैं। कई युवा इस तरह के लुभावने ऑÈर के शिकार भी बन रहें हैं।

बेलगाम ठगी का धंधा

सेक्स ऑÈर के जरिए वेबसाइट पर युवाओं को ठगने का धंधा जोरों पर चल रहा हैं। मेल, Èिमेल एस्कॉर्ट भी सर्विस के नाम पर लोगों से रुपए ऐंठे जा रहे हैं। ये लोग लड़कों को अपने क्लब का मैंबर बनाने के नाम पर ठग रहे हैं। मददगार रिपोर्टर ने जब एक ऐसे ही ई-मेल एड्रेस पर मेल कर क्लब की सदस्यता प्राप्त करने की इच्छा व्यक्त की, तो कुछ देर बाद रिप्लाई आया और Èोटो, उम्र और तथा लोकेशन मांगी।

जिगालो बनने की चाह

ऐसा नहीं है कि इन साइट पर केवल कॉल गर्ल ही उपलब्ध है। यहां क्रजिगालोञ्ज(पुरूष वेश्या) बनने के लिए युवा अपने नंबर और अपनी खूबियां बताते नजर आते हैं। युवकों में जिगालो बनने का शौक इस कदर छाया हुआ है कि उसे शब्दों में बयां करना मुश्किल है। इसी बेवसाइट पर कई युवा अपने Èोन नंबरों के साथ लड़कियों और बड़ी उम्र की महिलाओं को रिझाते नजर आते हैं।

 

> सोश्यल साइट के जरिये इन दिनों ऑनलाइन हाईप्रोÈाइल सेक्स रैकेट का धंधा जोरों पर है। ऐसी ठगी की सर्वाधिक वारदातें इन दिनों जयपुर में हो रही है। हां, उदयपुर में भी ऐसी ही वारदातें होने की जानकारी है, लेकिन बदनामी के डर से कोई सामने नहीं आता है। इस मामले में पुलिस की साइबर सेल को चाहिए कि वो उदयपुर में संचालित ऐसी आईडी को सर्च करके इसमें शामिल लोगों की धरपकड़ करें। जयपुर में तो ऐसे भी मामले सामने आए हैं, जिसमें लड़कियां भी उपलब्ध करवा दी गई और बाद में इस रैकेट से जुड़े लोगों ने परिजनों के सामने खुलासा करने का डर दिखाकर लोगों से काÈी रुपए हथिया लिए । ये लोग लड़कियों के वीडियो भी यू ट्यूब पर अपलोड करते हैं, जिससे कोई भी इन लोगों की ठगी का शिकार हो सकता है।

-अभिषेक धाबाई, साइबर एक्सपर्ट

 

>ऑल लाइन पर आ रहे इस तरह के विज्ञापनों से सावधान रहना चाहिए और अगर ऐसा कोई मामला दर्ज होता है तो साईबर सेल इस पर काम करेगा।

-तेजराजसिंह,

एएसपी सिटी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>